Breaking

शुक्रवार, 27 मार्च 2020

/ / 20 Best On-Page S.E.O Techniques 2020 [Hindi]

20 Best On-Page S.E.O Techniques 2020 [Hindi]

20 Best On-Page S.E.O Techniques 2020 [Hindi] - On-page S.E.O best way है किसी website, Articles और pages को search engine में अछि तरह से Ranking दिलवाने और organic traffic अपने blog पर लाने के लिए। ज्यादा तर नई Bloggers को यह पता नही होता कि सिर्फ अच्छी तरह से किया गया On-Page S.E.O भी उनके websites को google की S.E.R.P के पहले page पर जगह दिलवाने के लिए काफी है।

On-Page SEO, On Page SEO Techniques, Best, Rank on Google, How To do, 2020, In hindi, Keyword research, article Writings,

लेकिन कोई बात नही आज हम इन्ही on-page S.E.O की techniques के बारे में जानने वाले है जो आपके articles, और website को google के पहले Page में rank करवा सकती है। तो आइए जानते है कोनसी है वो on-page S.E.O techniques


1. Site Structure (Navigation)

Website के Structure में आपके Website Navigation सबसे महत्व पूर्ण होता है। कोई भी developer जब कोई new Website बनता है तो सबसे वो Site के Structure के बारे में सोचता है। 

Website Structure Navigation यानि कोनसे pages कहाँ और किस menu और Pages के साथ जुड़े हुए है। कोनसे Link पर click करने से कोनसा page ओपन होगा। कोनसी link Website पर आने वाले Users को कहाँ तक लेके जाएगी इन सभी navigational purpose की बातों को पहले सही तय किया ज्याता है जिसके बाद इस पर काम करके इसे Perfect बनाया ज्याता है ताकि users को उनकी website पर Navigate करने में कोई दिक्कत न हो। 

How to Delete Photo Albums on Samsung Galaxy S10

On-Page SEO Techniques में Website का navigation जितना easy होगा उतना ही ज्यादा अच्छे से users Website पर एक Page से दूसरे और दुसरेसे तीसरे page पर move कर पाएंगे और ज्यादा जानकारी हासिल कर पाएंगे। यह अच्छे  S.E.O result के लिए बहोत जरुरी है।   

याद रखे जब भी आप कोई blog या Website बनाओ तो website के Structure navigation पर ध्यान जरूर दे ये SEO और Website के Performance के लिए जरुरी होता है।

2. Home Page Design

On-Page SEO Techniques में किसी भी website को Better performance के लिए अपनी website के Home Page का Design Simple रखना होता है। website के home page की Simple और Users friendly design की वजह से Users को आपके website मौजूद content को ढूंढने और पढ़ने में आसानी होती है। 

जो एक positive छवि create करता है users के दिल में। अच्छे SEO Result के लिए आपके Website का Clean Design बहोत ज्यादा मदत गार हो सकता है।

Basically, अगर कहूं तो जिन चीजों (Widgets) की जरूत हो बस वही लगे रहने दो जिनकी जरुरत नहीं है उन Widgets की जरुरत न हो उन्हें निकाल दे। Navigation के लिए Primary Menu और Secondary Menu bar लगाए। Extra दिखावे की चीजों को निकल देना ही बेहतर होगा। 

3. Load Time

On-Page SEO Techniques में Website का Loading Time कम होना जरुरी है क्यों की आपकी Website का Loading Time भी आपके On-Page SEO पर Positive और Negetive Effect दाल सकता है। आपकी Website का Load Time ज्यादा  होगा तो कोई user आपकी website पूरी तरह खुलने की राह नहीं देखेगा वो सीधा दूसरी website पर चला जायेगा जिससे आपकी Website का Exit Rate बढ़ जायेगा। 

जिसे Google गलत समझता है और जिसके बदलेमे आपकी Website की Ranking को भी कम करदेगा Search Engine में। तो कुल मिलाके आपको आपकी website  जितना हो सके उतना Fast Loading बनाना होगा जिसके लिए आप निचे दिए गए उपाय अपना सकते है। 

  • इस्तेमाल में लाये जाने वाले Images का Size कम रखे। 
  • जिन Widgets की जरुरत नहीं है उन्हें निकाल दे। 
  • Java Script या अन्य किसी Language की Scripts की size को कम करे। 
  • अच्छी Hosting ले। 
  • अपनी Website का समय समय पर Maintenance करे। 
  • Daily Active और सतर्क रहे।  

4. Robots txt

किसी भी Website में Robots.txt को सिर्फ इसलिए किया ज्याता क्यों की इसके जरिये हम Webmasters के Crawlers, Spiders, Bots को निर्देशित कर सकते है की कोन कोनसे Pages, Categories को Index करना है और कोन कोनसे नहीं।  जिन Pages को हम Index नहीं करवाना चाहते है तो हम Disallow Tag का इस्तेमाल करके उन pages पर इन Bots का जाना प्रतिबंदित कर देंगे। 

जिसका का सीधा मतलब है की हम जो pages Index करवाना चाहते है बस वही Index किये जायेंगे बाकि Pages को ये Bots छुएंगे भी नहीं।      

5. Meta Tags

On-Page S.E.O के नजरिये से On-Page SEO Techniques में आपको अपने Website में Meta Tags का इस्तेमाल करना जरुरी है। अगर Meta Tags के इस्तेमाल को देखे तो हम बस Meta Keywords, Meta Description,  Author, Title और Canonical जैसे महत्वपूर्ण Tags का इस्तेमाल करते है। जिसमे हर एक meta Tag अलग अलग उद्देश्य के लिए उपयोग में लिया ज्याता है। 
  • Meta keywords - आपकी Website किन Specific Keywords पर काम कर रही है उसकी जानकारी Webmasters को देता है।
  • Meta Description - आपकी Website का Short पर Brief introduction Search Console को देता है। 
  • Author -आपके Website पर कितने और कोन कोन से Content Writers काम कर रहे है उसकी जानकारी Search Console को देता है। 
  • Title -आपके Website के मुख्य Title को Search Console को बताने का काम करता है। 
  • Canonical - ये आपकी website के original links को Determine करने और उसकी जानकारी को search Console तक पोहचीने का काम करता है। ताकि आपकी website पर Duplicate Url का issue ना आये।
On-Page SEO Techniques में इन Meta Tags का इस्तमाल कैसे करते है उसके ऊपर पूरा का पूरा Article लिखा हुवा है उसे आप How To use Meta Tags in Blogger यहाँ से पढ़ सकते है। 

6. Multimedia

जिस तरह हम Google में सवालों को search करते है उसी तरह हम Multimedia Files को भी Google हो या कोई और Search Engine हम इन्हे search करते ही है। जैसे Images, Videos, GIF, आदि इनका इस्तेमाल हम अपने Website के Content में करके हमारे Content का On-Page SEO और ज्यादा मजबूत करते है। इनका इस्तेमाल करने से Google में जब कोई हमारे Topic से Related keyword के जरिये किसी images Search करेगा तोह हमारे Articles में इस्तेमाल किये गए Images वहां दिखाए जा सकते है। 

उस Images में हमारे Article का link भी दिखाया ज्याता है जिस पर Click करके Users Directly हमारे Web page पर आ सकते है। Multimedia Files का इस्तेमाल यह भी On-Page SEO Technique ही है। 

Multimedia Files के जरिये हम SEO तो मजबूत करते ही है। साथ ही हमारे articles को attractive भी बनाते है। और Google के  image Search feature के जरिये Traffic भी अपनी website पर ले जा सकते है। याद रखे जब भी आप किसी Images को अपने Articles में डालो तो Alt text और Tags को images में add करे क्यों की Webmaster के Crawlers Images नहीं पढ़ सकते वो images को उनके Alt text और tags की मदत से पढ़ते है।       

7. Research

On-Page SEO Techniques में Research किसी भी Website के Ranking का Backbone होता  है अगर आपने आपके Website के Niche में अच्छी खासी Research की है तो आपको आपकी website को Rank करवाने से कोई भी नहीं रोक सकता है। जितनी अच्छी आपकी Research होगी आप उतना अच्छे तरहसे अपने Website और Articles का On-Page SEO कर पाओगे जो की बेशक आपकी Website को Search Engine में Ranking दिलाने में मदतगार साबित होगा।  दरसल Research हमें कुछ खास चीजों की करनी होती है जो निचे दिए है। 
  • Topic 
  • Keywords
  • Rank Competition 
  • Competitor (off-Page और On-Page SEO) 
  • How Much Information Avalible on Internet
इन सब की Research करने के लिए आपको Blogging में इस्तेमाल किये जाने वाले Tools की जरुरत पड़ेगे जिन्हे आप खरीद सकते है।  या फिर आप (Free Blogging Tools) यहाँ से Free में Blogging Tools का इस्तेमाल कर सकते है। 

8. Title

Search Engine के result Page में सबसे पहले अगर कुछ दिखाई देता है तो वो है Website, Articles और Pages का Title और ज्यादा तर लोग इसे पढ़कर ही कोनसे Link पर Click करना है और कोनसी नहीं यह तय करते है। जब आप On-Page SEO Techniques के बारे में सोचते है तो आपको आपके Website के Content के Titles को SEO Optimize करना होगा।  

जिसके लिए आपको आपके Title थोड़ा Attractive रखने के साथ ही Focus Keyword और Supporting Keywords को भी अपने Title में इस्तेमाल करना होगा।   

9.  Body text

On-Page SEO Techniques के अंदर Body Text से मेरा मतलब है की आपके Article का पहला Paragraph जो आपके Title का Description होता है उसे SEO Friendly बनाना बहोत जरुरी होता है।  क्यों की  कभी कभी Google पहले Paragraph को ही Search Description समझ लेता है। 

आप को अपने पहले Paragraph को SEO Friendly बनाने के लिए उसमे अपने Article का Focus Keyword और Supporting Keywords को Use करते हुए एक अच्छा और Article में जो लिखने वाले हो उसको Explain करे इस तरह लिखना होगा।   

10. Paragraph

अपनी website के articles को Paragraph के format में लिखना बहोत ाचा होता है जिससे हमें पता चलता है की हम अपने keywords को कहाँ fix कर सकते है। साथ ही इससे हमें अच्छा user experience भी मिलताहै साथ ही user retention भी बढ़ता है। क्यों की users को आपके articles को पढ़ने में आसानी होती  है और वो आसानी से समझ सकते है। 
  • Focus keywords & supporting keywords 
  • Keywords of general terms
  • Insert some Local keywords 
  • Insert some information About particular Topic
इन सभी चीजों के साथ साथ आपको यह भी ध्यान में रखना होगा की आपके Article के Paragraph में valuable जानकारी हो जो लोग पढ़ना और जिसके बारे में जानकारी लेना चाहते हो। 

11. Keywords density

On-Page SEO Techniques में Keyword की density को manage करना बहोत ही ज्यादा जरुरी होता है. लेकिंग keywords की density कितनी होगी यह आपके Article के Length और Quality पर Depend करता है। Normally हम 2.5 से 3 percent रखने की सलाह देते है। 

Keyword Density यानि आपके Headings, sub-headings और आपके Article के Paragraph के अंदर कितनी बार Focus कीवर्ड इस्तेमाल किये गए है उसका Total Count होता है। 

आप normal से अधिक बार Keywords का इस्तेमाल करते है तो इसे google गलत समझता है। और परिणाम स्वरुप आपके Links की Ranking को कम करदेता है।   

12. readability

बहोत सारे लोग Website पर Articles लिखके Publish तोह करते है लेकिन यह भूल ज्याते  जब user उनकी Website पर आता है तो उसे उनका लिखा हुवा समझ भी आता है।  या वो user उनका लिखा हुवा पढ़ पाता है या नहीं। On-Page SEO Techniques में Articles Website के लिए नहीं बल्कि Users के लिए लिखे ज्याते है। ताकि जब भी कोई User उनकी Website पर आये तोह उनका लिखा हुवा Content वो user पढ़ सके और समझ सके।   

13. Length of Post

Article की Length आपके Knowledge पर तय होती है जितना ज्यादा आपको उस Particular Topic के बारे में पता होगा उतना ज्यादा आप लिख पाओगे। और आज कल लगभग सभी Topics पर Internet पर जानकारी भरी पड़ी है। 

अगर आप Internet Users को अच्छी जानकारी देनाही चाहते है तो आपको Internet के ऊपर दूसरी Website पर मौजूद जानकारी से ज्यादा जानकारी देने की कोशिश करननी होगी। On Page SEO Techniques में हम वो सब करते है जिससे हमारी Website को Benefit हो। 

ज्यादा लम्बे article में आप keywords को अछेसे Fit कर सकते है। keywords की density बढ़ने के कारन आपका on-page S.E.O भी मजबूत होता है। users को ज्यादा जानकारी मिलती है तो वो ज्यादा Time आपके Website पर Spend करते है। जिससे User Retention बढ़ता है जो आपके website की Ranking के लिए बहोत ज्यादा जरुरी होता है।    

14. Inbound Links

On-Page SEO Techniques में Inbound या फिर Internal Page, Articles Linking हम सिर्फ इसी लिए करते है क्यों की हमारे users को Unlimited source of information मिले जूं की Users को satisfaction हो की हम इस site पर आये जरूर लेकिन खली हात वापस नहीं जाना पडा। internal linking में एक page में दूसरे page के, एक article में दूसरे Articles के Link द्वारा Connect करने की Process होती है। 

मान लीजिये कोई User आपके किसी एक article पर आता है। वो article पढ़ते पढ़ते उसे किसी ऐसे Article का Link दिख ज्याता है जिसे वो पढ़ना चाहता है तो वो उस link पर Click करके उस Article पर चला जायेगा। ऐसे ही कुछ Links उस Article में भी होंगे तो वो user उस वाले article से दूसरे article पर दूसरे से ३ रे Article पर चला  जाता रहेगा और जानकारी को अर्जित करता रहेगा। 

इस तरह उस user को Unlimited Source of information मिल जायेगा और आपकी Website पर वो जितना ज्यादा होसके उतना टाइम बिताएगा। जिससे होता यह है की जितना ज्यादा वो user Time Spend करेगा आपके Website पर Search engine को आपको Website के प्रति उतने ज्यादा Positive Signals मिलते रहेंगे। जिन signals के मदत से आपके website की Ranking को एक अच्छा Boost मिलेगा।      

15. external links

जब हम हमारे Website को अच्छे से rank करवाने के लिए On-Page SEO Techniques के बारे में सोचते है तो हमें ये भी याद रखना जरुरी है की। हमारे पास उतनी जानकारी होती ही नहीं की हम किसी Users की जानकारी पाने की भूख को मिटा सके। तो ऐसे में हमें अपने Articles में बाहरी websites जिनके ऊपर जानकारी का भंडार हो ऐसे websites के Pages को एक resource के तौर पर Link करना होता है।

याद रखे आपको सिर्फ और सिर्फ Trusted और Reputed Websites को ही अपने Articles में Link करना है। ताकि आपकी website की value बनी रहे। आप Wikipedia जैसे Websites को Link कर सकते है। अगर आप अपने website को किसी ऐसी reputed Website के साथ Link करते हो जिसमे जानकारी भरी पड़ी है तो Google इसे अच्छा मानता है। 

साथ ही ऐसा करने से आपके website का trust Rate भी बढ़ता है।  जो आपकी Website की Ranking के लिए बहोत जरुरी होता है। 

16. Explanation

जब आप अपने Website पर Publish करने के लिए कोई Article लिखो तो आपको उसके अंदर लिखी जाने वाली जानकारी को अच्छे से explain करना आना चाहिए। जितना ज्यादा अच्छा आपका explanation होगा User को उतनी ज्यादा आसानी से सब कुछ पढ़ने और समझने में आसानी होगी।   

याद रखे की अपनी website के articles के लिए On-Page SEO Techniques का प्रयोग करते समय और ऐसे भी हमेशा आपको simple शब्दों का ही उपयोग अपने articles में करना चाहिए जो सब लोग समझ सके। भारी भरकम शब्दों का उपयोग users को आपके Articles को समझ ने में दिक्कत खडी कर सकता है। 

अगर users को आपके Website publish की गई जानकारी आसानीसे समझ आने लगे तो वो users बार बार आपके Website पर वापस आते रहेंगे। 

17. Search Description

Search Description आपके Website, Articles, के Link के ठीक निचे दिखाया ज्याता है Search engine के Result पेज में। और तो और यही वो चीज है जिसकी वजह से आप Search engine के result पेज में दिखाई देते हो। 

On Page SEO Techniques में सबसे ज्यादा जरुरी है की हम इसे इस तरह Optimize करे की Search में हमारे links पहले Page पर दिखाई दे। जिसके लिए आपको 150 Characters के अंदर  एक सुन्दर Description अपने Focus और Supporting Keywords को Mix करके लिखे। 

याद रखे कभी कभी Users search Description पढ़ते है और उसके बाद ही किसी Link पर Click करते है। आपका Search Description Call To action वाला होना चाहिए।  

कभी कभी Google पर Search Description में ही किसी सवाल का जवाब मिल ज्याता है। जैसे किसी कि जन्म तारीख, Movie की Release की तारीख, और भी बहोत से। तो ऐसे में User को कोई Website की link ओपन करने की जरुरत ही नहीं पड़ती।  लेकिन जिस Websites के link में उसे वो जवाब मिला था अगली बार वो किसी और सवाल का जवाब पाने के लिए उस website पर जरूर ज्याता है। 
जिसके लिए आपको अपने Articles का Search Description Answering Type में लिखना होगा।   

18. Permalink

Permalink को SEO Friendly बनाने के लिए आपको उसके अंदर कभी भी Numbers का इस्तेमाल नहीं करना है जैसे 2020, 2021 और भी कई।  

साथ ही अपने Articles के Permalink को हमेशा जितना हो सके उतना Short ही रखे। 

Focus keywords का इस्तमाल करे। 

SEO Friendly Urls कैसे बनाया ज्याता है। इसके बारे में जानकारी जरूर ले जो की आपको आपके Blogging career में बहोत मदतगार साबित होगी। 

20. Conclusion

Conclusion यानि आपके Article का सारांश। जिसे आपको आपके Article के Footer में लिखना होता है जिसमे आप अपने article में क्या क्या बताया है उसकी short में जानकारी लिख सकते है। या फिर अगर आप चाहे तो user कोई msg भी दे सकते है। यह जरुरी होता है। 

सारांश - आपको हमारा यह 20 On Page SEO Techniques in hindi 2020 कैसा लगा जिसमे हमने आपको सभी 20 On-page seo techniques के बारे में बताया है। इसके बारे आप हमें Comment Box में जरूर बताये। 

साथ ही कोई सुझाव देना चाहते हो जिससे हम अपनी website को आपके लिए और बेहतर बना सके तो आप वो भी निचे Comment बॉक्स में लिखे। साथ आपको अगर Blogging में कोई दिक्कत आरही हो तो उसके बारे में भी लिखे हम अपनी पूरी कोशिश करेंगे उसे solve करने की। धन्यवाद....!  

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें